भारतीय वायु सेना में शामील हुआ Chinook CH47I हेलीकॉप्टर|

भारतीय वायु सेना में शामील हुआ Chinook CH47I हेलीकॉप्टर

दोस्तों आज की सबसे बड़ी खबर भारतीय वायु सेना के तरफ से आ रही है| आज भारतीय वायु सेना में एक ऐसा महारथी सामील हो गया है जो युद्ध में गेम चैंजर साबित हो सकता है| बल्कि वह मानवीय सहयता और लड़ाकु भूमिका में काम आने की भी क्षमता रखता है|

दोस्त आज के इस पोस्ट में हम जानेंगे की आखिर कैसे भारतीय वायु सेना में शामील होने वाला नया योद्धा चिनूक CH47I न सिर्फ युद्ध में युद्ध के नतीजों को पलट के रख सकता है| बल्कि चिनूक CH47I बड़े ही आसानी से दुश्मनो के घर में घुस कर स्ट्राइक भी कर सकता है| साथ ही Chinook CH47I मानवीय सहयता भी कर सकता है|

Chinook ch47i

लेकिन ये सब जानने से पहले हम जानते है की हमारे एयर मार्शल बीएस धनोआ ने क्या कहा, बीएस धनोआ ने कहा की चिनूक न केवल दिन में बल्कि रात में भी सैनिये करवाई करने की क्षमता रखता है|असम में पूर्व के लिए एक और इकाई बनायीं जाएगी|चिनूक का इंडक्शन एक गेम चंगेर साबित होगा|

Chinook  Ch47I की खूबिया

CH47I चिनूक एक एडवांस मुलती मिशन हेलीकाप्टर है जो भारतीय वायु सेना को बेजोड़ सामरिक महत्व की हैवी लिफ्ट क्षमता प्रदान करेगा| यह मानवीय सहयता और लड़ाकु भूमिका में काम आएगा काफी दूर और उचाई वाले इलाको में भारी वजन के सैनिक साजो सामान के परिवहन में इस हेलीकाप्टर की भूमिका होगी| दोस्तों अब हम जानते है की कैसे भारतीय वायु सेना में शामील होने वाला चिनूक युद्ध में गेम चंगेर साबित हो सकता है.

जैसे की आप सभी जानते है की भारतीय सीमा जंगल पहाड़ो और नदी नालो से घिरा हुआ है ऐसे में अगर भारत पाकिस्तान या भारत चीन सीमा पर कभी आमने सामने आते है तो जो देश युद्ध क्षेत्र में जो अपने सैनिको को सबसे पहले पंहुचा पाएगा वह देश सामने वाले देश पैर भरी पैर सकता है

इसका उदहारण है भारत चीन 1962 युद्ध, इस युद्ध में भारत अपने सैनिको को युद्ध क्षेत्र में सही समाये पैर नहीं पंहुचा पाया था जिस कारण भारत की हार हुई थी इसके बाद सरकार ने फैसला किया की भारत चीन सीमा तक रोड बनाये जाये ताकि जरूरत पड़ने पर युद्ध क्षेत्र में अपने सैनिको को सही समय पर भेजा जा सके 73 रोड को सरकार ने बनाने का फैसला किया है इन 73 रोड ने से 48 रोड मिनिस्ट्री ऑफ़ डिफेन्स बना रहा है तो बाकी 25 रोड्स को मिनिस्ट्री ऑफ़ होम अफेयर्स बना रहा है

 

लेकिन यह भी सत्य है की सरकार सीमा के हर क्षेत्र को नहीं पंहुचा सकती क्योकि भारतीय सीमा नदी नाले और पहाड़ो से घिरा हुआ है लेकिन चिनूक हेलीकॉप्टर के आजाने से हमारी सेना ,कही भी बड़े ही आसानी से पहुंच सकती है यह डबल इंजन वाला हैवी लिफ्ट हेलीकॉप्टर है इस लिए इस हेलीकॉप्टर के सहारे हमारी सेना दिन या रात कभी भी बड़े ऑपेरशन को अंजाम दे सकती है

अब हम जानते हे की चिनूक मानवीय सहायता में हमारी कैसे मदद कर सकता है जैसे की हम सभी जानते है की हमारे देश में बाढ़,भूकंप और कई आपदाए आती रहती है और उन आपदाओं में हजारो मासूम लोग मारे जाते है ऐसे में उन आपदाओं में फेज लोगो को बचाने में भी चिनूक CH47I काम आ सकता है और एक बार में कई लोगो की जान बचा सकता है|

 

About Alam

Hello Friends ..... My name is Shamsher Alam. I live in New Delhi (INDIA) I am a software engineer

View all posts by Alam →

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *